ZINDAGI MIL JAYEGI Lyrics – Tony Kakkar & Neha Kakkar

Zindagi Mil Jayegi by Neha Kakkar and Tony Kakkar

Zindagi Mil Jayegi Lyrics: The beautiful love song is sung by Neha Kakkar & Tony Kakkar and has music composed and lyrics written by Tony Kakkar.

Song: Zindagi Mil Jayegi
Singer: Neha Kakkar, Tony Kakkar
Composed & Written by: Tony Kakkar
Music Label: Desi Music Factory

Advertisement

Zindagi Mil Jayegi Lyrics

Mujhe teri wafaa ka
Sahara mil jaaye to
Zindagi mil jayegi
Zindagi mil jayegi

Meri doobi si kashti ko
Kinara mil jaaye to
Zindagi mil jayegi
Zindagi mil jayegi

Tumhein maanga dua mein
Tu shamon mein, subah mein
Main tera hoon mulaazim aur
Tu shaamil aye Khuda mein

Mere mahtaab tera
Nazara mil jaaye to
Zindagi mil jayegi
Zindagi mil jayegi

Nahi chaaha mujhe kisi ne
Na apna banaya hai
Tu mujhe lagta hai qismat se
Mere hisse mein aaya hai

Mujhe ab mere hisse ki
Khushiyan mil jaayein toh
Zindagi mil jayegi
Zindagi mil jayegi

Bada maasoom tha dil mera
Kitno ne dukhaya hai
Haan bohat roya hai yeh chhup chhup ke
Tumne aake hansaya hai

Meri kaali si raaton ko
Sitara mil jaaye to
Zindagi mil jayegi
Zindagi mil jayegi

Tumhein maanga dua mein
Tu shamon mein, subah mein
Main tera hoon mulazim aur
Tu shaamil aye Khuda mein

Mere mehtaab tera
Nazara mil jaaye to
Zindagi mil jayegi
Zindagi mil jayegi

Mujhe teri wafa ka
Sahara mil jaaye to
Zindagi mil jayegi
Zindagi mil jayegi

Zindagi Mil Jayegi Lyrics (Hindi)

मुझे तेरी वफ़ा का
सहारा मिल जाए तो
ज़िन्दगी मिल जाएगी
ज़िन्दगी मिल जाएगी

मेरी डूबी सी कश्ती को
किनारा मिल जाए तो
ज़िन्दगी मिल जाएगी
ज़िन्दगी मिल जाएगी

तुम्हें माँगा दुआ में
तू शामों में सुबह में
मैं तेरा हूँ मुलाज़िम और
तू शामिल ऐ खुदा में

मेरे महताब तेरा
नज़ारा मिल जाए तो
ज़िन्दगी मिल जाएगी
ज़िन्दगी मिल जाएगी

नहीं चाहा मुझे किसी ने
ना अपना बनाया है
तू मुझे लगता है क़िस्मत से
मेरे हिस्से में आया है

मुझे अब मेरे हिस्से की
खुशियां मिल हैं तो
ज़िन्दगी मिल जाएगी
ज़िन्दगी मिल जाएगी

बड़ा मासूम था दिल मेरा
कितनो ने दुखाया है
हाँ बहुत रोया है ये छुप छुप के
तुमने आ के हंसाया है

मेरी काली सी रातों को
सितारा मिल जाए तो
ज़िन्दगी मिल जाएगी
ज़िन्दगी मिल जाएगी

तुम्हें माँगा दुआ में
तू शामों में सुबह में
मैं तेरा हूँ मुलाज़िम और
तू शामिल ऐ खुदा में

मेरे महताब तेरा
नज़ारा मिल जाए तो
ज़िन्दगी मिल जाएगी
ज़िन्दगी मिल जाएगी

मुझे तेरी वफ़ा का
सहारा मिल जाए तो
ज़िन्दगी मिल जाएगी
ज़िन्दगी मिल जाएगी

Video Thumbnail
Advertisement